What is adverb with examples in Hindi or English Part 1

 What is a adverb with examples in Hindi or English Part 1

What is a adverb with examples in Hindi or English Part 1
What is a adverb with examples in Hindi or English Part 1

Best App for English speaking practice

 

Adverb ( क्रियाविशेषण )

Definition of Adverb ( क्रियाविशेषण ) in Hindi

क्रियाविशेषण की व्याख्या हमने देखी है. लेकिन सिर्फ व्याख्या जानना काफी नहीं है. व्याख्या जानना मात्र शुरुआत है. शुरुआत हो चुकी है. अब अगला अध्ययन हमें करना है. यह अध्ययन हम तीन चरणों में करेंगे. उनमें से पहला चरण है क्रियाविशेषण के प्रकार. उसके बाद क्रियाविशेषण की वाक्य में जगह हम देखेंगे. और अंत में कुछ महत्वपूर्ण क्रियाविशेषणों की ओर ध्यान देंगे. प्रारंभ क्रियाविशेषण के प्रकारों से. क्रियाविशेषण के प्रकार ?

1. Adverb of manner (ढंगवाचक क्रियाविशेषण)

lazily, foolishly,  slowly, honestly, bravely

ये ढंगवाचक क्रियाविशेषणों के उदाहरण हैं. ये क्रियाविशेषण सामान्यतः क्रिया को

कैसे, किस तरह ऐसे प्रश्न पूछने पर मिलने वाले उत्तर होते हैं.

2. Adverb of place (स्थानवाचक क्रियाविशेषण)

down, near, in, out, here, there, up,  ये स्थानवाचक क्रियाविशेषण

हैं. ये क्रियाविशेषण सामान्यतः क्रिया को कहाँ यह प्रश्न पूछने पर मिलने वाले

उत्तर होते हैं.

3. Adverb of time (कालवाचक क्रियाविशेषण)

tomorrow, soon, now, then, today,  ये कालवाचक क्रियाविशेषण हैं.

ये क्रियाविशेषण सामान्यतः क्रिया को कब यह प्रश्न पूछने पर मिलने वाले उत्तर होते हैं.

4. Adverb of frequency (वारंवारतादर्शक क्रियाविशेषण)

always, never, sometimes, often, seldom ये वारंवारतादर्शक

क्रियाविशेषण हैं. ये क्रियाविशेषण सामान्यतः क्रिया को कितनी बार यह प्रश्न पूछने

पर मिलने वाले उत्तर होते हैं.

5. Adverb of degree (परिमाणवाचक क्रियाविशेषण)

क्रियाविशेषण विशेषण या दूसरे क्रियाविशेषण के बारे में विशेष जानकारी देते हैं.

जब हम बहुत अच्छा, थोड़ा अच्छा, काफी अच्छा, एकदम अच्छा’ ऐसा कहते हैं

तब कितना इस प्रश्न का उत्तर देने वाले थोड़ा,काफी,बहुत,एकदम ये

परिमाणवाचक क्रियाविशेषण होते हैं.

6. Adverb of sentence (वाक्यवाचक क्रियाविशेषण)

ये क्रियाविशेषण कुल मिलाकर पूरे वाक्य के बारे में जानकारी देते हैं.

उदा. possibly, probably, definitely, luckily, unfortunately,

certainly.

क्रियाविशेषण की वाक्य में जगह

1. वाक्य में कर्म न हो तो क्रियाविशेषण सामान्यतः क्रिया के बाद में और कर्म हो तो सामान्यतः कर्म के बाद आता है. क्रियाविशेषण क्रिया और कर्म के बीच में नहीं आता.

Ex:-

  • He ran fast.
  • They laughed loudly.
  • He answered the question quickly.
  • He speaks Marathi fluently.

2.कुल मिलाकर पूरे वाक्य पर ज़ोर देने के लिये कुछ क्रियाविशेषणों का वाक्य के प्रारंभ में भी प्रयोग किया जा सकता है.

Ex:-  Slowly the mystery unfolded before us.

3.वाक्य में एक से अधिक क्रियाविशेषण हों तो सामान्यत: कैसा + कहाँ + कब?

इस क्रम से क्रियाविशेषण आते हैं.

He spoke enthusiastically( कैसा? )  at the meeting( कहाँ?)  last evening.( कब? )

He played brilliantly in the final yesterday.

लेकिन कुछ स्थानवाचक क्रियाविशेषण (away, home, in(side), out (side), here, there, back, backward, forward) ढंगवाचक क्रियाविशेषणों के पहले प्रयोग किये जाते हैं.

Ex:-

  • He went away angrily.
  • I will come back quickly.
  • Let’s move forward confidently.
  • She went home happily.
  • He looked in(side) carefully.
  • They lived there happily.
4. वाक्य में क्रिया के बाद का हिस्सा थोड़ा लंबा हो तब या क्रिया पर विशेष जोर देना
हो तब क्रियाविशेषण क्रिया से पहले आ सकता है.
Ex:-
They vigorously opposed the decision taken by the president.
He systematically explained each point before going on to the next.
5. कालवाचक क्रियाविशेषण (जैसे today, now, then, tomorrow, soon,
later, afterwards, recently etc.) सामान्यतः वाक्य के अंत में प्रयोग
किये जाते हैं. कभी प्रारंभ में भी प्रयोग किये जा सकते हैं. लेकिन आज्ञावाचक
वाक्य में ये क्रियाविशेषण अक्सर अंत में ही आते हैं.
Ex:-
  • I am going home now.
  • Now I am going home.
  • Do this now.
कुछ कालवाचक क्रियाविशेषण कभी सहायक क्रिया के बाद भी प्रयोग किये जा
सकते हैं. जैसे,
  1. You will soon speak in English.
  2. I am now going to tell you another story.
6. वारंवारतादर्शक क्रियाविशेषण (Ex:- , always, ever, never, often,
frequently, seldom, rarely, hardly ever, occasionally, usually,
sometimes, वगैरह) सामान्यतः सामान्य वर्तमानकाल में क्रिया से पहले आते हैं.
Ex:-
  • I never went there.
  • I always think so.
  • I will never go there.
  • He often/seldom comes here.

Adverb with examples in Hindi Example 

  • ये क्रियाविशेषण वाक्य में to be के रूप (am/is/are/was/were) हों तो
इस रूप के तुरंत बाद आते हैं.
Ex:-
You are always late.
I am always happy.
वाक्य में सहायक क्रिया हो तो ये क्रियाविशेषण सहायक क्रिया के बाद प्रयोग किये जाते हैं. और सहायक क्रिया में एक से अधिक शब्द हों तो ये क्रियाविशेषण सहायक क्रिया के पहले शब्द के बाद आते हैं. See Ex- in given bellow.
  • He has always helped me.
  • I have never been told that.
  • Have you ever thought about it?
लेकिन used to और have to ये सहायक क्रियाएँ वाक्य में हो तो ये क्रियाविशेषण
इन सहायक क्रियाओं से पहले आते हैं.
उदा:- He never used to worry about anything.
ये क्रियाविशेषण सिर्फ सहायक क्रियाओं के साथ प्रयोग करने हों तो (यानी
क्रिया न हो तब) इनका प्रयोग कई बार सहायक क्रिया के पहले किया जाता है. उदाः-
1. Do you ever go to your uncle’s?
Yes, I sometimes do.
2. I can speak in English but I never do.
आज्ञावाचक वाक्य में always तथा never ये क्रियाविशेषण सामान्यतः वाक्य
के प्रारंभ में आते हैं. उदाहरण :-
  • Always stay happy.
  • Never worry.
7. कई वारंवारतादर्शक क्रियाविशेषण (usually, occasionally, sometimes, once, इ.) वाक्य के प्रारंभ अथवा अंत में कहीं भी प्रयोग किये जा सकते हैं! Ex:-
  • Usually I go to school on foot.
  • I go to school on foot usually.
  • Often I go on foot.
  • I go on foot (very) often.
  • every day, every week, once a day, twice a week, thrice a year, on Sundays (हर रविवार को) आदि का प्रयोग सामान्यतः वाक्य के अंत में होता है.
(ध्यान दें : on Sunday = रविवार को, on Sundays = हर रविवार को)
नोट : कई वारंवारतादर्शक क्रियाविशेषणों का आगे इसी अध्याय में विस्तार से
वर्णन किया गया है.
8. स्थानवाचक क्रियाविशेषण सामान्यत: क्रिया के बाद तथा वाक्य
कर्म के बाद आते हैं. जैसे,
 
  • He went away.
  • I sent them away.
  • They live upstairs/downstairs.
  • He was sitting on the table.
9. वाक्यवाचक क्रियाविशेषण कई बार वाक्य के प्रारंभ में प्रयोग किये जाते हैं. लेकिन
अंत में प्रयोग करना भी संभव है. उदाहरण :-
 
Unfortunately he lost his job again.
Luckily, he wasn’t hurt in the accident.
Possibly/ Perhaps he has lost my address.
Undoubtedly there is God and He is One.
10. कुछ वाक्यवाचक क्रियाविशेषण वाक्य के बीच में भी प्रयोग किये जा सकते हैं.
1) वाक्य में am/is/are/ was/were ये क्रियाएँ हों तो उसके तुरंत बाद. उदा:- Man is obviously/clearly/undoubtedly/evidently/ certainly helpless.
2) सामान्य काल में क्रिया से पहले. जैसे,
  • SHe certainly works with responsibility.
  • He probably knows it.
3) वाक्य में सहायक क्रिया हो तो सहायक क्रिया के बाद.
  • He has probably sold his car.
  • He has probably been told about it.
11. परिमाणवाचक क्रियाविशेषण सामान्यतः जिसके बारे में विशेष जानकारी देने के
लिये प्रयोग किया जाता है उस शब्द के पहले आता है.
  • It is almost impossible.
  • The result was wholly unexpected.
  • am fully satisfied.
लेकिन enough यह क्रियाविशेषण जिसके बारे में जानकारी देने के लिये प्रयोग
किया जाता है उस शब्द के बाद आता है. जैसे, The water is hot enough.
12. hardly ever, scarcely ever, rarely, seldom, never आदि जैसे शब्द जब कथनवाचक वाक्य में सामान्य (हमेशा की) जगह पर प्रयोग करने के बजाय
ज़ोर देने के लिये वाक्य के प्रारंभ में प्रयोग किये जाते हैं तब इन शब्दों के बाद की
वाक्यरचना प्रश्नवाचक प्रकार की होती है. देखिये.
‘मैंने उस बारे में कभी नहीं सोचा था’ यह वाक्य सामान्यतः I had never thought about it इस प्रकार होगा.
और never का प्रारंभ में प्रयोग करना हो तो वाक्य इस प्रकार होगा:
Never had I thought about it (Never I had…. ऐसे नहीं).
 
  • Adverb Part 1
  • Adverb Part 2
  • Adverb Part 3
  • Adverb Part 4
  • Adverb Part 5